शे’र

तुम्हें क्या पता कि मुझे क्या-क्या नहीं लगता तुम्हें इश्क़ करना अब इश्क़ जैसा नहीं लगता ख़ुश बहुत हुए रक़ीब* की बातें करके मुझसे लगता है मैं तुम्हें अब पहले…

Continue Reading

हुस्ना

पहले प्यार करते हैंफिर दग़ा देते हैंदिल तोड़ देते हैंमाफ़ी भी माँगते हैंफिर प्यार करते हैंऔर अचानक छोड़ देते हैंये कौन लोग हैंकहाँ से आते हैं?

Continue Reading

दिलजले

ख़ुद को मना तो लिया है उसे दिल से हटाने कोपर अब भी उसकी तस्वीर हटाने का मन नहीं करता

Continue Reading
Close Menu