Insomnia

यूँ ही बैठा रहता हूँ बिस्तर पे देर रात तलक
कि तेरी यादें उठें जायें तो सोने को जगह मिले

Leave a Reply

Close Menu