ख़राबज़ादा

पता नहीं मुझे बिगाड़ा किसने
ख़ुदने या फिर तुमसे इश्क़ ने

Leave a Reply

Close Menu