दो धारी प्यार

दिन में सूरज रात में चाँद से बात करती है ज़मीं,
कौन माशूक़* उसका और कौन है दोस्त पता नहीं।

*प्रेमी

Leave a Reply

Close Menu